Beautiful Sanskrit Song by Anand Singh | श्लोक वाचन कार्यक्रम | Studyment

Lucknow के Anand Singh ने संस्कृत भाषा में ये प्यारा सा देशभक्ति गीत record करके हमें भेजा है।9th class में पढ़ने वाले Anand को drawing का भी शौक है, साथ ही प्रकृति का ध्यान रखना भी इन्हें बहुत अच्छा लगता है।🙂

देशभक्ति की भावना से प्रेरित ये गीत इन्होंने बड़ी ही मधुरता से गाया है:

जीवनस्य लक्ष्यमेव देशसेवनव्रतम् ।
सेवया हि जीवनं सार्थकं फलान्वितम् ॥

अन्धकारजीवने दीपमुद्दीपयाम ।
क्लेशबहुलवीथिकाकण्टकान्युत्खनाम ।
त्रस्तदीनबान्धवान् हस्तलम्बमुन्नयाम ।
न्यूनता यत्र यत्र तत्र सत्वरं हि याम ॥

प्रतिजनं प्रतिपदं ध्येयमारोपयाम ।
श्रद्धया विशुद्धया दीनदेवमर्चयाम ।
स्वार्थभावनां विना सर्वमपि समर्पयाम ।
जनहितं वरप्रदं हृदि चिरं स्थापयाम ॥

जीवनस्य लक्ष्यमेव देशसेवनव्रतम् ।
सेवया हि जीवनं सार्थकं फलान्वितम् ॥🙏🏼

आपके इस सुन्दर से गीत के लिए आपको ढेर सारी शुभकामनाएं।💐

Comments